पुराने ब्यॉयफ्रेंड अध्ययन सुमन का दिल डोला -सलाम है कंगना रनौत की हिम्मत को

New Delhi : सुशांत सिंह राजपूत मामले ने एक्टर अध्ययन सुमन को पूरी तरह से बदल दिया है। वे इस मामले में अपनी एक्स गर्लफ्रेंड कंगना रनौत की भूमिका की भरपूर तारीफ कर रहे हैं ये वही अध्ययन सुमन है जो कभी अपनी एक्स गर्लफ्रेंड कंगना रनौत के साथ विवाद के कारण काफी खबरों में थे। एक एंटरटेनमेंट वेबसाइट से बातचीत में अध्ययन ने कहा- लोग मेरे बारे में कहते हैं कि मैं अपनी एक्स के खिलाफ गलत बातें करता हूं। लेकिन मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मैं कंगना रनोट का बहुत सम्मान करता हूं। उन्होंने बहुत कुछ सहा है।आज वे जहां हैं, वह इज्जत और शोहरत पाने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की है। वे एक परफेक्ट उदाहरण हैं, जिन्होंने इंडस्ट्री के बड़े लोगों से लड़ाई लड़ी और अपना नाम बनाया। उन्हें सलाम है।

अध्ययन सुमन और कंगना रनोट ने फिल्म ‘राज : द मिस्ट्री कंटिन्यू’ (2009) में साथ काम किया था। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान ही दोनों करीब आए थे। हालांकि, उनका रिश्ता ज्यादा दिन नहीं चला और सालभर के अंदर ही उनका ब्रेकअप हो गया।2018 में जब बॉलीवुड में #MeToo कैंपेन छाया हुआ था, तब अध्ययन ने कंगना पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि कंगना रिलेशनशिप के दौरान उन्हें गालियां देती थीं और पीटती थीं। उन्होंने कंगना पर सैंडल फेंककर मारने तक का आरोप लगाया था।

कंगना लगातार बॉलीवुड में मौजूद नेपोटिज्म और फेवरेटिज्म के खिलाफ बोलती आ रही हैं। 2017 में जब वे ‘कॉफी विद करन’ में पहुंची थीं, तब करन जौहर को नेपोटिज्म को बढ़ावा देने के लिए जिम्मेदार ठहराया था। बीती 14 जून को जब सुशांत सिंह राजपूत ने सुसाइड की, तब भी कंगना ने साफतौर पर कहा कि अभिनेता ने नेपोटिज्म से हारकर यह कदम उठाया है।
पिछले दिनों शेखर सुमन ने भी बॉलीवुड में नेपोटिज्म और खेमेबाजी की बात स्वीकार की थी और कहा था कि उनका बेटा अध्ययन भी इसका विक्टिम रह चुका है। खुद अध्ययन भी यह स्वीकार कर चुके है कि नेपोटिज्म की वजह से उन्हें 14 फिल्मों से हटाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 4 = five