धार्मिक नेता के जनाजे में शामिल हुए 50,000 लोग, तस्लीमा ने कहा – सरकार सबसे बड़ी बेवकूफ

New Delhi : कोरोना को लेकर दुनियाभर में हाहाकार मचा हुआ है। लेकिन बांग्लादेश में एक धार्मिक नेता के जनाजे के दौरान यह बात साबित हो गई कि अभी भी समाज का एक तबका इसको गंभीरता से नहीं ले रहा है। बांग्लादेश में लॉकडाउन के दौरान सभी तरह की सभाओं पर बैन को लेकर सरकार के निर्देशों के बावजूद ब्राह्मणबारिया में जनाजे में बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जुटी, जिस पर अब बांग्लादेश की लेखिका तस्लीमा नसरीन ने सरकार पर तंज कसते हुए कहा है कि सरकार बेवकूफ है।

तस्लीमा नसरीन ने ट्वीट किया – लॉकडाउन में सामूहिक सभाओं पर बैन के बावजूद बांग्लादेश के ब्राह्मणबारिया में एक धार्मिक नेता मौलाना जुबैर अहमद अंसारी के जनाजे में 50,000 लोग जमा हुए, बेवकूफ सरकार ने इन बेवकूफ लोगों को रोकने की कोशिश भी नहीं की।

बांग्लादेश में अब तक 2,144 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इधर 24 अप्रैल, 2020 से रमजान का पवित्र महीना भी शुरु होने वाला है लेकिन इस दौरान सबको कोरोना संकट में सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए कहा गया है। लॉकडाउन के नियमों का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है। भारत में देशव्यापी लॉकडाउन के चलते कर्नाटक अल्पसंख्यक कल्याण वक्फ और हज विभाग ने कहा है कि इस बार रमजान के दौरान दावत-ए-सहरी या इफ्तार की कोई व्यवस्था नहीं की जाएगी।
दिल्ली में गुरुवार को केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 30 राज्यों के वक्फ बोर्ड के साथ बैठक की है। बैठक में रमजान महीने में लॉकडाउन के दिशानिर्देशों, सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य नियमों का पालन कैसे हो इस बात पर चर्चा हुई। इसी बीच कर्नाटक के वक्फ बोर्ड ने कहा, कोरोना वायरस के देखते हुए पूरे कर्नाटक में रमजान के दौरान मस्जिदों में 5 बार नमाज बढ़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirty eight − 32 =