दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे के 25 साल : एक फिल्म जिसने पूरी जेनरेशन का नजरिया बदल दिया

New Delhi : बॉलीवुड की सुपरहिट फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे की रिलीज को 20 अक्टूबर को 25 साल पूरे हो गये हैं । वर्ष 1995 में प्रदर्शित शाहरुख खान और काजोल की इस फिल्म ने कई रिकार्ड कायम किसे। आज भी लोगों की पहली पसंद बनी हुई है। दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे की रजत जयंती पूरी करने के बाद, दो सितारा मूर्तियों को लंदन के लीसेस्टर स्क्वायर में रखा जाएगा। यानर फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ में शाहरुख खान और काजोल की स्टैचू का लुक लंदन के लीसेस्टर सकायर पर नजर आएगा।

हार्ट ऑफ लंदन बिजनेस अलायंस से जुड़े मार्क विलियम्स ने मिड डे को बताया कि ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ सफल हिंदी फिल्मों में से एक है और मूर्ति का प्रतिनिधित्व करना गर्व की बात है। मार्क विलियम्स ने आगे कहा कि फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ अब तक की सबसे सफल हिंदी फिल्मों में से एक है। यह मूर्ति बॉलीवुड की वैश्विक लोकप्रियता के लिए एक सच्ची तस्वीर है। उन्होंने टीम को बधाई दी।
आदित्य चोपड़ा द्वारा निर्देशित दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे में अनुपम खेर, अमरीश पुरी, फरीदा जलाल, सतीश शाह, मंदिरा बेदी, परमीत सेठी और अचला सचदेव ने जबर अभिनय किया। फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा का भी फिल्म की सफलता में अहम योगदान था। फिल्म ने वेशभूषा और स्टाइल के साथ प्रशंसकों को आकर्षित किया जिसने डीडीएलजे को अभी तक की सबसे फैशनेबल फिल्मों में से एक बना दिया। मनीष ने डीडीएलजे के साथ अपने विजन के बारे में खोला कि कॉस्टयूम डिजाइन हर फिल्म के रचनात्मक रोडमैप का एक अभिन्न हिस्सा है।
मनीष कहते हैं- एक फिल्म के लिए, सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा स्क्रिप्ट है। मगर इस फिल्म और उनके किरदारों के बारे में बहुत कुछ ताज़ा था, यह कुछ नया करने का सुनहरा मौका था। जब मैं फिल्मों में आया था तो मैं हमेशा चाहता था, मैं कुछ ऐसा करूं जो अलग हो और सभी पात्रों को एक ऐसा रूप दे, कि पब्लिक की नजर उन पर अटक जाये। डीडीएलजे ऐसी ही एक स्क्रिप्ट थी जब आदि ने इसे सुनाया, हम पागल हो गए। मेरे लिए यह एक सपने के सच होने जैसा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− one = 1